दुनिया का पहला 5जी टैबलेट हॉनर V6 हुआ लॉन्च, फीचर्स जानकर हैरान होंगे आप !

0
44
दुनिया का पहला 5जी टैबलेट हॉनर V6 हुआ लॉन्च, फीचर्स जानकार हैरान होंगे आप !

हुआवे का सब ब्रांड हॉनर स्मार्टफ़ोन एक्सेसरीज से लेकर एडवांस स्मार्ट टीवी तक अलग-अलग नए गैजेट्स लाकर तकनीक की दुनिया में धूम मचा रहा है। पेश किया हुआ नया हॉनर टैबलेट V6 स्मार्टफोन जैसी दिखने वाली बॉडी फ्रेम और आकर्षक लुक और कई नई खूबियों के साथ आता है।

5 जी कनेक्टिविटी, फ्लैगशिप किरिन 985 प्रोसेसर और 10 इंच का 2K डिस्प्ले इस नए टैबलेट की मुख्य हाइलाइट फीचर्स हैं। हॉनर V6 टैबलेट पर दी गई मटैलिक फिनिशिंग के कारण यह टैबलेट अधिक प्रीमियम और आकर्षक दिखता है।

हॉनर V6 कीमत और उपलब्धता:

नए Honor V6 टैबलेट के लिए रेजिस्ट्रैशन आज से शुरू हो रहे हैं, लेकिन अभी तक इसकी कीमत के बारे में कोई सटीक जानकारी नहीं है। हॉनर के अधिकारियों ने पुष्टि की है कि वे 13 जून को अगले महीने कीमत की घोषणा करेंगे।

हॉनर V6 के स्पेसिफिकेशन:

Honor V6 टैबलेट 10.4-इंच 2K डिस्प्ले के साथ 84% स्क्रीन-टू-बॉडी रैशीओ के साथ आता है। फ्लैग्शिप प्रोसेसर किरिन 985, 6 जीबी रैम और 128 जीबी की इंटरनल स्टोरेज इस टैबलेट मे दिए गए है।

पीछे की तरफ 13 एमपी कैमरा और सामने की तरफ 8 एमपी का सेल्फी कैमरा है, जो फोटो और वीडियो कॉल करने के लिए दिया गया है। हालाँकि सॉफ्टवेयर साइड से Android 10 इसमें है, लेकिन Google Play Store की उपलब्धता नहीं है। यूजर्स को अपने मनपसंद एप्लिकेशन प्राप्त करने के लिए ऐप गैलरी और थर्ड पार्टी एप्लिकेशन पर निर्भर रहना पड़ेगा।

Kirin 985 प्रोसेसर के चलते यह टैबलेट 5G कनेक्टिविटी को सपोर्ट करता है। हॉनर V6 5G टेक्नोलॉजी के साथ आने वाला दुनिया का पहला टैबलेट है। 7205 mAh की बैटरी टैबलेट को लंबे समय तक बैटरी बैकअप प्रदान करती है। हॉनर V6 टैबलेट तीन कलर वेरिएंट ऑलिव ग्रीन, सिल्वर और ब्लैक में उपलब्ध हैं।

आने वाले दिनों मे यह टैबलेट सैमसंग और एप्पल जैसी प्रमुख कंपनियों टैबलेट को कड़ी टक्कर देगा ऐसी हमें उम्मीद है। प्ले स्टोर सपोर्ट की कमी हॉनर के लिए परेशानी का सबब बन रही है, क्योंकि ज्यादातर एंड्रॉयड यूजर्स को लगता है कि प्ले स्टोर से एप्लिकेशन इंस्टॉल करना एक सुरक्षित तरीका है।

हुआवे अभी भी एंड्रॉइड को बदलने के लिए अपने हार्मनी ओएस को विकसित करने के रास्ते पर है, लेकिन ऐसा लगता है कि इस ऑपरेटिंग सिस्टम को फोन पर आने के लिए उम्मीद से अधिक समय लग सकता है। तब तक यूजर्स को थर्ड पार्टी ऐप इंस्टॉलर और स्टोर्स पर भरोसा करना होगा।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here